हनुमान मंत्र | Hanuman Mantra

Hanuman Mantra: हनुमान जी बड़े ही दयालु देवता हैं। मान्यता है कि आज भी हनुमान जी जीवित हैं और भक्तों की रक्षा करते हैं। प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी की पूजा अवश्य करनी चाहिए। पूजा के बाद हनुमान जी के मंत्र (hanuman mantra) और चालीसा का पाठ से जीवन से सभी प्रकार के कष्टों का निवारण होता जाता है। 

आज हम आपको My Mandir के इस ब्लॉग में हनुमान के कुछ शक्तिशाली मंत्रों के अर्थ और लाभ (Meaning and Benefits of Hanuman Mantras) बता रहे हैं। 

तो आइए, हनुमान जी के शक्तिशाली (hanuman mantra) का पाठ करके भगवान बजरंग बली का दिव्य आशीर्वाद प्राप्त करें। 

हनुमान मंत्र: अर्थ और लाभ (Hanuman Ji Ke Mantra)

1. 

हनुमान मंत्र

ॐ ऐं ह्रीं हनुमते श्री रामदूताय नमः ||

मंत्र का अर्थ

राम के दूत हनुमान को हमारा नमस्कार है।

हनुमान मंत्र का लाभ

  • इस मंत्र से मन का भय दूर और होता है।
  • आत्मविश्वास और भक्ति की प्राप्ति होती है।

2.

मंत्र:

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय

सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा ||

मंत्र का अर्थ

हे हनुमान आप रूद्र अवतार हो और रामदूत हो। हमारे सर्वशत्रु का नाश किजिए, सर्व रोगों को दूर कर आपकी कृपा दृष्टि से सर्व रोगों का हरण कीजिए। राम के दूत आपको हम प्रार्थना करते हैं कि हमारे सर्वकार्य में सफलता और कीर्ति प्राप्त हो, इसलिए हम आपको प्रणाम करते हैं।

मंत्र का लाभ

  • इस मंत्र के पाठ से, मनुष्य को सर्व रोगों से मुक्ति मिलती है।
  • सर्व शत्रुओं का विनाश होता है। 
  • हनुमान जी बुरे वक्त को दूरकर समय को अनुकूल, सुख-समृद्ध कर देते हैं।

3.

हनुमान गायत्री मंत्र:

ॐ आञ्जनेयाय विद्महे वायुपुत्राय धीमहि ।

तन्नो हनुमत् प्रचोदयात् ॥

मंत्र का अर्थ

हे श्री अंजना और वायु के पुत्र श्री हनुमान हमारी आपसे प्रार्थना है कि अपनी दया दृष्टि हम पर बनाए रखें।

मंत्र का लाभ:

  • इस मंत्र के जाप से भय का नाश, मानसिक शांति मिलती है।
  • आत्मविश्वास बढ़ता है।
  • जीवन में सुख-शांति मिलती है। 

हिन्दू धर्म के अन्य देवी-देवताओं के शक्तिशाली मंत्रों को जानने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave a Comment